गुजरात: ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ के करीब पार्किंग स्थल के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 11 आदिवासी गिरफ्तार


गुजरात में नर्मदा जिले के केवड़िया गांव में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’. (पीटीआई फाइल फोटो)

Gujarat Statue of Unity News: केविड़या थाने के निरीक्षक पी. टी. चौधरी ने कहा, ‘यह घटना रविवार दोपहर को हुई जिसके बाद प्रदर्शन में शामिल 20 ग्रामीणों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई.’

राजपिपला. गुजरात में नर्मदा जिले के केवड़िया गांव में दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’’ के समीप एक पार्किग स्थल के प्रस्तावित विकास (निर्माण) के विरोध में प्रदर्शन कर रहे 11 आदिवासियों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें पांच महिलाएं शामिल हैं. पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी. यह गिरफ्तारी उस समय की गई जब रविवार दोपहर सरदार सरोवर नर्मदा निगम द्वारा किए जा रहे क्षेत्र के सर्वेक्षण का कम से कम 20 आदिवासी ने विरोध कर रहे थे.

एक अधिकारी ने बताया कि उनमें से दो महिला प्रदर्शनकारियों– एक 60 साल की और दूसरी 30 साल की, ने अपने आप को आंशिक रूप से निर्वस्त्र कर लिया था. ग्रामीण 182 मीटर ऊंची स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी के समीप पार्किग स्थल बनाये जाने का विरोध कर हैं. यह प्रतिमा एक बड़े पर्यटक आकर्षण के रूप में उभरी है.

बुलेट ट्रेन परियोजना के कारण हटाए गए झुग्गी निवासी कोर्ट की शरण में

केविड़या थाने के निरीक्षक पी टी चौधरी ने कहा, ‘यह घटना रविवार दोपहर को हुई जिसके बाद प्रदर्शन में शामिल 20 ग्रामीणों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई. उनमें से पांच महिलाओं और छह पुरुषों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया.’ सर्वेक्षण कार्य का विरोध कर रहे ग्रामीणों ने दावा किया कि स्थानीय प्रशासन ने इस परियोजना के लिए जिस जमीन की बाड़बंदी की है, वह उनकी है और यह अधिग्रहण अवैध हैं.

चौधरी ने कहा, ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के समीप सभी ऐसे सर्वेक्षण कार्य भारी पुलिस तैनाती के बीच किये जा रहे हैं क्योंकि स्थानीय लोग उनका विरोध कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि आरोपियों के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता (भादंसं), आपदा प्रबंध एवं महामारी रोग अधिनियम की संबंधित धाराएं लगाई गई हैं.









Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: