केरल में कांग्रेस में बड़ा बदलाव, अब सुधाकरन के हाथों में कमान


सुधाकरन लोकसभा में दूसरी बार कन्नूर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. (तस्वीर- ksudhakaraninc Facebook)

तेजतर्रार नेता और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के मुखर आलोचक 73 वर्षीय सुधाकरन को वामदलों के मजबूत गढ़ कन्नूर में कांग्रेस का चेहरा माना जाता है. तीखे बयानों और निडर व्यक्तित्व के कारण उत्तर केरल में खासकर कन्नूर में उनका अच्छा खासा जनाधार है.

नई दिल्ली/तिरुवनंतपुरम. कांग्रेस ने केरल विधानसभा चुनाव में हार के बाद प्रदेश संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए मंगलवार को सांसद के. सुधाकरन को पार्टी की राज्य इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त किया. पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सुधाकरन को अध्यक्ष नियुक्त करने के साथ ही सांसद कोडिकुनिल सुरेश, विधायक पी टी थॉमस और टी सिद्दीक को कार्यकारी अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी है.

मुल्लापल्ली रामचंद्रन को प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद और के.वी. थॉमस को कार्यकारी अध्यक्ष पद से मुक्त किया गया है. कांग्रेस ने हालिया विधानसभा चुनाव में हार के बाद केरल इकाई के संगठन में ये बड़ा बदलाव किया है. केरल विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के नेतृत्व वाले मोर्चे यूडीएफ को हार का सामना करना पड़ा और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन की अगुवाई में वाम मोर्चे एलडीएफ ने शानदार जीत हासिल की और हर पांच साल में सत्ता परिवर्तन की चार दशकों से चली आ रही परिपाटी को तोड़ दिया.

ए के एंटनी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं

सुधाकरन लोकसभा में दूसरी बार कन्नूर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. वह चार बार विधायक रहे हैं और 2001-2004 के दौरान ए के एंटनी के नेतृत्व वाली राज्य सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. तेजतर्रार नेता और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के मुखर आलोचक 73 वर्षीय सुधाकरन को वामदलों के मजबूत गढ़ कन्नूर में कांग्रेस का चेहरा माना जाता है. तीखे बयानों और निडर व्यक्तित्व के कारण उत्तर केरल में खासकर कन्नूर में उनका अच्छा खासा जनाधार है.कांग्रेस की प्रदेश ईकाई के नेतृत्व में बदलाव की चर्चा चल रही थी

केरल में विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ एलडीएफ से हार और महज 41 सीटें मिलने के बाद कांग्रेस की प्रदेश ईकाई के नेतृत्व में बदलाव की चर्चा चल रही थी. पिछले महीने वीडी सतीशन को जब विधायक दल का नेता चुना गया तो यह लगभग स्पष्ट हो चुका था कि केपीसीसी प्रमुख पद पर बदलाव होगा. बहरहाल, सुधाकरन ने कहा कि राहुल गांधी ने उन्हें फोन पर नयी जिम्मेदारी के बारे में सूचित किया. उन्होंने कहा, ‘राज्य में पार्टी को फिर से मजबूत करने में और पार्टी काडर में आत्मविश्वास जगाने के लिए मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगा.’

उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं पार्टी में सबको साथ लेकर चलने का प्रयास करूंगा और पार्टी को फिर से खड़ा करने के लिए सबका सहयोग और समर्थन मांगूंगा. कांग्रेस फिर से मजबूत होगी और राज्य में मजबूती से वापसी करेगी.’









Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: