जब पाकिस्तानी गेंदबाज की 2 गेंदों पर वीरेंद्र सहवाग ने ठोक दिए थे 21 रन


सहवाग के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ही गेंद पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी है. (Virender Sehwag/Instagram)

सहवाग ने 13 मार्च 2004 को भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच खेले गए वनडे मैच के दौरान पाकिस्तानी पेसर राणा नावेद-उल-हसन (Rana Naved-ul-Hasan) की गेंदों पर यह कारनामा करके दिखाया था.

नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) अपने विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करने के लिए जाने जाते थे. क्रिकेट के सभी प्रारूपों में सबसे खतरनाक बल्लेबाजों में से एक सहवाग को शुरू से ही विपक्ष पर आक्रमण करना पसंद था. वह अक्सर पहली ही गेंद पर चौका लगाकर अपनी पारी की शुरुआत करते थे. अपने धाकड़ अंदाज से वह गेंदबाजों के लिए दहशत बने हुए थे. सहवाग अपने चरम पर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों के लिए एक बुरे सपने की तरह थे. ‘नजफगढ़ के नवाब’ से मशहूर वीरेंद्र सहवाग के रिकॉर्ड और आंकड़े उनकी बल्लेबाजी की गवाही देते हैं.

जबकि कई लोग सहवाग के पहली गेंद पर बाउंड्री के प्रति प्रेम के बारे में जानते होंगे, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि भारत के पूर्व बल्लेबाज ने पाकिस्तानी गेंदबाज की सिर्फ 2 गेंदों पर 21 रन जड़ दिए थे. सहवाग ने 13 मार्च 2004 को भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच खेले गए वनडे मैच के दौरान पाकिस्तानी पेसर राणा नावेद-उल-हसन (Rana Naved-ul-Hasan) की गेंदों पर यह कारनामा करके दिखाया था. हालांकि, सहवाग ने अपने बल्ले से सभी 21 रन खुद नहीं बनाए थे. सहवाग की उपस्थिति ने गेंदबाज को गलतियां करने पर मजबूर किया, जिसकी वजह से 2 गेंदों में इतने सारे रन आ गए थे.

बतौर सलेक्टर आपको ऐसे फैसले लेने होंगे, जो दिग्गजों के खिलाफ होंगे: एमएसके प्रसाद

यह भारत की पारी का 11वां ओवर था. राणा नावेद उल हसन गेंदबाजी कर रहे थे. उन्होंने शुरुआत नो बॉल से की, जिसे सहवाग ने चौके के लिए भेजा. अगली गेंद एक बार फिर एक नो-बॉल थी, जिसे सहवाग ने सीमा रेखा के लिए भेज दिया. इसके बाद तेज गेंदबाज ने लगातार तीसरी नो-बॉल से एक और गलती की. तीन नो-बॉल के बाद ही दाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने एक सही गेंद फेंकी, जिसमें से कोई रन नहीं आया.रॉबिन्‍सन के बाद एक और इंग्लिश क्रिकेटर मुश्किल में, 16 साल की उम्र में किया ट्वीट अब पड़ा भारी!

इसके बाद फेंकी गई गेंद फिर से नो बॉल थी, जिसे सहवाग ने फिर से चौके के लिए भेजा. नावेद उल हसन का बुरा सपना यहीं खत्म नहीं हुआ. उन्होंने फिर से एक नो बॉल फेंकी. इसके बाद उनकी डिलिवरी ठीक हुई, जिस पर सहवाग ने चौका जड़ा. इस तरह सहवाग पहली दो गेंदों में 21 रन बनाने में सफल रहे. उन्होंने अपने बल्ले से 16 रन बनाए, जबकि 5 रन नो बॉल से आए.

Youtube Video

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज ने अंतिम तीन गेंदों पर केवल तीन रन दिए. इस तरह उन्होंने अपने इस एक ओवर में 24 रन दे डाले. ह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में पांच नो बॉल वाले सबसे खराब ओवरों में से एक था. सहवाग के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक ही गेंद पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी है. उन्होंने नावेद उल हसन के सही बॉल फेंकने से पहले 17 रन जोड़ लिए थे.









Source link

Leave a Reply

COVID-19 Tracker
%d bloggers like this: