प्रभारी मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने की विकास कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा

आवास प्लस योजना के हितग्राहियों की सूची पंचायतों में पेंट कर लिखवाने के निर्देश

       मध्यप्रदेश शासन के नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा तथा पर्यावरण मंत्री एवं बालाघाट जिले के प्रभारी मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने आज 23 जनवरी 2023 को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक लेकर विकास कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। बैठक में पेसा एक्ट का स्थानीय बोली में प्रचार करने प्रकाशित पुस्तिका का विमोचन भी किया गया।

बैठक में मध्यप्रदेश शासन के आयुष एवं जल संसाधन राज्य मंत्री श्री रामकिशोर “नानो” कावरे, मध्यप्रदेश पिछड़ा वर्ग कल्याण आयोग के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर बिसेन, मध्यप्रदेश खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री प्रदीप जायसवाल, कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री समीर सौरभ, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री विवेक कुमार, वन मंडलाधिकारी श्रीमती मीना मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री शिवगोविंद मरकाम, सभी विभागों के अधिकारी, सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नायब तहसीलदार एवं नगरीय निकायों के अधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में बालाघाट जिले में पेसा एक्ट के क्रियान्वयन, मनरेगा के कार्यों, अमृत सरोवर निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में चल रहे सड़कों एवं पुल-पुलियों के कार्यों, जल जीवन मिशन एवं नल-जल योजना के कार्यों, शालाओं एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में नल-जल एवं बिजली की उपलब्धता, सीएम राईज स्कूल, आवासीय भूमि का पट्टा वितरण, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, स्वामित्व योजना, एक जिला एक उत्पाद, राशन वितरण, छात्रावासों की स्थिति एवं खेलो इंडिया यूथ गेम्स की तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की गई।

प्रभारी मंत्री श्री डंग ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि आगामी 05 से 25 फरवरी 2023 तक सभी ग्रामों एवं नगरीय क्षेत्रों के प्रत्येक वार्ड में विकास यात्रा निकाली जायेगी। इस विकास यात्रा के लिए सभी आवश्यक तैयारी की जाये। मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के दौरान जिन लोगों को योजनाओं का लाभ देने के लिए चिन्हित किया गया है, उन्हें हितलाभ का वितरण किया जाये। विकास यात्रा के दौरान निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन करने के साथ ही शासन की योजनाओें एवं उपलब्धियों के बारे में आम जन को बताना है।

       प्रभारी मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने बैठक में अधिकारियों से कहा कि जिले में पेसा एक्ट का प्रभावी क्रियान्वयन किया जाये। इस एक्ट के अंतर्गत प्रत्येक गांव में चार समितियों का गठन हो जाये और आम जन को इस एक्ट का लाभ मिलने लगे यह सुनिश्चित किया जाये। इस एक्ट में वनोपज के विक्रय का अधिकार भी ग्राम सभा को दिया गया है अत: ग्राम सभा से प्रस्ताव पारित कर इस संबंध में निर्णय लिया जाये। इस दौरान बताया गया कि पेसा एक्ट जिले के तीन विकासखंड बैहर, बिरसा एवं परसवाड़ा की 173 ग्राम पंचायतों के 438 ग्रामों में लागू है। इन सभी ग्रामों में ग्राम सभा का गठन कर लिया गया है और चार प्रकार की समितियों का गठन कर लिया गया है। थाने में एफआईआर दर्ज होने पर संबंधित ग्राम सभा को सूचना दी जा रही है। मनरेगा कार्यों की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री श्री डंग ने बालाघाट जिले में मछुआरों के लिए बनाये गये निषादराज भवन की सराहना की और कहा कि यह एक अच्छा नवाचार है, इससे अन्य जिलों को भी प्रेरणा मिलेगी।

       प्रभारी मंत्री श्री डंग ने निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि वर्ष 2017 से जिले में जो कोई भी निर्माण कार्य अब तक अधूरे हैं, उन्हें शीघ्र पूरा किया जाये और अधूरे व अपूर्ण कार्यों की सूची कारण सहित उन्हें उपलब्ध करायी जाये। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जिन सड़कों एवं पुल-पुलियों के कार्य स्वीकृत किये गये हैं उन्हें शीघ्र प्रारंभ किया जाये। इन कार्यों में अनावश्यक विलंब नहीं होना चाहिए। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान उन्होंने निर्देशित किया कि हर घर नल जल पहुंचाने के लक्ष्य को शीघ्र हासिल किया जाये। नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल की आपूर्ति व्यवस्थित एवं समय पर होना चाहिए। सभी स्कूलों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों में नल-जल एवं बिजली कनेक्शन की उपलब्धता होना चाहिए और यह कार्य गुणवत्ता के साथ होना चाहिए। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना में बनी सड़कों की मरम्मत एवं मेंटेंनेंस का कार्य शीघ्रता से एवं समय सीमा में होना चाहिए।

       समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री श्री डंग ने बालाघाट जिले में रिकार्ड मात्रा में धान खरीदी के लिए अधिकारियों की प्रशंसा की और कहा कि खरीदे गये धान का शीघ्रता से परिवहन कर गोदामों में पहुंचाया जाये और किसानों को धान का भुगतान जल्दी से कराया जाये। उन्होंने जिले में किसानों के लिए उर्वरक एवं खाद की कमी नहीं होने देने के निर्देश दिये और कहा कि किसानों को जैविक व प्राकृतिक खेती के लिए प्रोत्साहित किया जाये । इसके लिए किसानों को प्रशिक्षण देने के निर्देश दिये। एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत जिले में चिन्नौर धान के उत्पादन को बढ़ाने के लिए इसका रकबा बढ़ाने के निर्देश दिये। किसानों, पशुपालकों एवं मछुआरों को किसान क्रेडिट कार्ड वितरण का लक्ष्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये गये।

       प्रभारी मंत्री श्री डंग ने प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में आवास प्लस के लिए चयनित हितग्राहियों की सूची ग्राम पंचायत की दीवारों पर पेंट से लिखवाने के निर्देश दिये। जिससे हितग्राहियों एवं आम जन को पता चल सके कि कौन-कौन व्यक्ति का आवास स्वीकृत हो गया है। स्वास्थ्य कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री श्री डंग ने कहा कि शिशु एवं गर्भवती माताओं के टीकाकरण एवं अनमोल पोर्टल पर पंजीयन में लापरवाही नहीं होना चाहिए। आयुष्मान योजना का हर पात्र व्यक्ति को मिलना चाहिए। उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि आयुष्मान योजना से लांभावित होने वाले हितग्राहियों की सूची स्थानीय प्रतिनिधियों को उपलब्ध करायें। जिससे उन्हें पता चल सकेगा कि इस योजना से किन-किन लोगों को लाभ पहुंचा है।

       प्रभारी मंत्री श्री डंग ने जिले में संचालित छात्रावासों में छात्र-छात्राओं को सभी आवश्यक सुविधायें उपलब्ध कराने के निर्देश दिये और कहा कि छात्रावासों में साफ-सफाई, भोजन, पानी आदि की उत्कृष्ट व्यवस्था होना चाहिए। किसी भी छात्रावास में अव्यवस्था होने संबंधी शिकायत नहीं आना चाहिए। सीएम राईज स्कूल की चर्चा करते हुए कहा उन्होंने कहा कि यह मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकता वाली योजना है। इन स्कूलों का संचालन इस तरह से किया जाये कि आम जन में उनके प्रति एक अलग ही आकर्षण रहे। जिन सीएम राईज स्कूलों के भवनों की निविदा आदि की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है उनके भवनों का कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जाये। प्रधानमंत्री स्वनिधि एवं पथ विक्रेता योजना में स्वरोजगार के लिए ऋण वितरण का लक्ष्य हर हाल में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये। इसी प्रकार आजीविका मिशन के महिला समूहों को रोजगारमूलक गतिविधियों से जोड़ने के निर्देश दिये गये।

       प्रभारी मंत्री श्री डंग ने बैठक में राजस्व अधिकारियों से कहा कि नामांतरण, सीमांकन, बंटवारा के प्रकरणों का तेजी से निराकरण करें। तहसीलदार एवं एसडीएम कोर्ट में अधिक संख्या में प्रकरण निराकरण के लिए लंबित नहीं रहना चाहिए। सभी एसडीएम अपना फाईल वर्क करने के साथ ही क्षेत्र का भ्रमण भी करें और संबंधित विभागों के कार्यों पर कड़ी निगरानी रखें। स्वामित्व योजना में पात्र लोगों को पट्टों का वितरण करें। यह भी सुनिश्चित करें कि पटवारी अपने मुख्यालय में रहें।

       बैठक में बताया गया कि बालाघाट जिले में इस वर्ष रिकार्ड 54 लाख क्विंटल धान की समर्थन मूल्य पर खरीदी हुई और इसमें से 90 प्रतिशत का परिवहन हो गया है। मनरेगा एवं 15 वें वित्त की राशि से 19 निषादराज भवनों का कार्य पूर्ण हो गया है। नक्सल उन्मूलन अभियान में वर्ष 2022 में 01 करोड़ 18 लाख रुपये के 06 ईनामी नक्सलियों को मारा गया है। पुलिस के विशेष सहयोगी दस्ता में स्थानीय लोगों की भर्ती की जाना है। इसमें बालाघाट जिले में 80 पदों के विरूद्ध 17 हजार आवेदन आये हैं। हर घर नल-जल योजना के अंतर्गत 02 लाख 56 हजार परिवारों को कनेक्शन दिया जा चुका है। आयुष्मान योजना में 10 लाख 56 हजार 41 लोगों के आयुष्मान कार्ड बनाये जा चुके है। प्रधानमंत्री आवास योजना की आवास प्लस में 19 हजार 662 लोगों को आवास स्वीकृत हो गये है। प्राकृतिक खेती के अंतर्गत 1441 हेक्टर क्षेत्र में खेती के लिए 1189 किसानों का पंजीयन किया गया है। जिले के 03 लाख 33 हजार 962 हितग्राहियों को अन्नपूर्णा योजना के अंतर्गत खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा है। एक जिला एक उत्पाद के अंतर्गत चिन्नौर का रकबा 05 हजार हेक्टेयर बढ़ गया है।

Leave a Reply

Must Read

%d bloggers like this: