Jazbaat – E- kalam

Bank details for nomination fees deposite

Punjab National Bank

Name of A/c – Sachcha Dost, A/C No: 3242002100012474, IFSC Code – PUNB0324200,
Upi – 8602211756@paytm

The “Jazbaat-e-Kalam” award, established in 2013 by the Late Shri Ashok Lunia ji, stands as a testament to the commitment towards honoring the journalistic profession. This prestigious accolade not only seeks to uphold the dignity of journalism but also serves as a source of inspiration for both seasoned journalists and emerging talents. Over the past five seasons, the award has celebrated the contributions of over 500 journalists, recognizing their dedication to truth and information dissemination.

In a departure from tradition, this year’s event promises to be even more inclusive by extending recognition to artists, acknowledging their role as communicators in society. The decision to honor both journalists and artists underscores the belief that effective communication takes various forms, transcending the boundaries between the written word and artistic expression.

To be considered for nomination, interested individuals must submit a comprehensive application.
Journalists are required to provide details of their media coverage in 2023, showcasing their impactful work through mediums such as newspaper clippings, news clips, and video excerpts. Similarly,
Artists are encouraged to highlight their outstanding works from 2023, substantiating their submissions with news cuttings, media source through URL addresses, and other relevant materials.

The selection process for both journalists and artists will be conducted by a discerning five-member jury committee. This committee, entrusted with the responsibility of choosing the most deserving candidates, will play a pivotal role in ensuring that the “Jazbaat-e-Kalam” award continues to celebrate excellence across the diverse realms of journalism and artistic expression. As we look forward to this year’s event, the anticipation is high for the recognition of outstanding contributions that have shaped the narrative and enriched our collective understanding of the world around us.for enquiry :
ph no: 8989913008
dsdujn@gmail.com
info@sdnews.agency

जज़्बात-ए-कलम” पुरस्कार, जो 2013 में स्वर्गीय श्री अशोक लुनिया जी द्वारा स्थापित किया गया था, पत्रकारिता के प्रति समर्पण का प्रतीक है। यह प्रतिष्ठित पुरस्कार न केवल पत्रकारिता के गौरव को बनाए रखने का उद्देश्य रखता है, बल्कि यह अनुभवी पत्रकारों और नए प्रतिभाग्रस्त पत्रकारों के लिए प्रेरणा स्रोत के रूप में भी कार्य करता है। पिछले पाँच सीजनों में, 500 से अधिक पत्रकारों के संबढ़ का आदान-प्रदान किया गया है, जो सत्य और सूचना प्रसार में उनकी समर्पणशीलता को साबित करता है।

इस बार का कार्यक्रम, परंपरा से हटकर, विभिन्न रूपों में संवाद के स्रोत के रूप में कलाकारों को भी सम्मानित करने का वादा करता है। पत्रकारों और कलाकारों दोनों को सम्मानित करने का निर्णय, जागरूकता करता है कि प्रभावी संवाद कई रूपों में हो सकता है, जिससे लेखित शब्द और कलात्मक अभिव्यक्ति के बीच की सीमाएं पार की जा सकती हैं।

नामांकन के लिए इच्छुक व्यक्तियों को एक व्यापक आवेदन पत्र प्रस्तुत करना आवश्यक है।
पत्रकारों को : अपने 2023 में किए गए मीडिया कवरेज के विवरण प्रदान करना होगा, जिसमे न्यूज़पेपर क्लिपिंग्स, न्यूज़ क्लिप्स, और वीडियो उदाहरणों के माध्यम से प्रस्तुत किया जा सकता है। उसी तरह,
कलाकारों को : अपने 2023 में किए गए श्रेष्ठ कार्यों की जानकारी प्रदान करना होगा , जिसमें न्यूज़ कटिंग्स, मीडिया सोर्स ,यूआरएल के माध्यम से उपलब्ध कराना आवश्यक है।
पत्रकारों और कलाकारों के चयन प्रक्रिया को पाँच सदस्यी ज्यूरी कमेटी द्वारा संचालित किया जाएगा, जो उत्कृष्टता की प्रमुख उम्मीदवारों को चुनने की जिम्मेदारी संभालेगी। इस समिति की भूमिका, सुनिश्चित करना है कि “जज़्बात-ए-कलम” पुरस्कार सतत रूप से पत्रकारिता और कलात्मक अभिव्यक्ति के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्टता का समर्थन करता रहे।
for enquiry :
ph no: 8989913008
dsdujn@gmail.com
info@sdnews.agency