धर्म

समाज को नहीं परिवार को नहीं देश को नहीं वस खुद को वदलने की जरूरत है:मुनिश्री

विदिशा से ब्युरो चीफ शोभित जैन की रिपोर्ट : *सकारात्मक सोच से ही समाज में वदलाव लाया जा सकताहैं,मन की पवित्रता वहूत जरूरी हैं जिसका मन पवित्र होता हैं,वह दुनिया…
Continue Reading
धर्म

दशलक्षण धर्म का दसवां दिन: उत्तम ब्रह्मचर्य धर्म

‘ब्रह्मचर्य धर्म दसवां स्थान रखते हुए दशलक्षण धर्म को पूर्ण रूपकता प्रदान करता है, अतः आत्मा ही ब्रह्म है उस आत्मा में चर्या करना सो ब्रह्मचर्य है अथवा गुरु के…
Continue Reading
धर्म

दुनिया में आवरण की नहीं निरावरण की कीमत हैं*:मुनिश्री

*विदिशा से ब्यूरो  चीफ शोभित जैन की रिपोर्ट : धन कमाने के चक्कर में जो व्यक्ती लगा रहता हैं, वह धन को छोड़ अपना सव कुछ खो देता हैं! "कमालो…
Continue Reading
धर्म

आज दसलक्षण धर्म का दिन है :”उत्तम आकिंचन धर्म”

🙏 *उत्तम आकिंचन धर्म*🙏 कल उत्तम त्याग धर्म के दिन हमने देखा कि आत्म कल्याण हेतु प्रवृत्त साधक सभी प्रकार के परिग्रह का त्याग करता है, उस त्याग के उपरांत…
Continue Reading
धर्म

दिगंबर जैन धर्म के पर्युषण पर्व मेंं आठवाँ दिन *”उत्तम त्याग धर्म”*

*आज उत्तम त्याग धर्म* दिगंबर जैन धर्म के पर्युषण पर्व मेंं आठवाँ दिन *"उत्तम त्याग धर्म"* के रूप में मनाया जाता है। संसार में कोई भी व्यक्ति तब तक सुखी…
Continue Reading
धर्म

पर्युषण महा पर्व : उत्तम तप धर्म

🙏उत्तम🙏उत्तम तप धर्म 🙏 अर्थ — मनुष्य भव को प्राप्त कर, तत्वों का मनन करके, मन के साथ—साथ पाँचों इन्द्रियों का दमन करके, निर्वेद को प्राप्त होकर और सम्पूर्ण परिग्रह का…
Continue Reading
धर्म

दिगंबर जैन धर्म में पर्युषण पर्व में सातवाँ दिन *”उत्तम तप धर्म”*

🙏 *आज उत्तम तप धर्म*🙏 दिगंबर जैन धर्म में पर्युषण पर्व में सातवाँ दिन *"उत्तम तप धर्म"* के रूप में मनाया जाता है। स्वर्ण जब अशुध्द अवस्था में रहता है…
Continue Reading
धर्म

पर्युषण पर्व के दस धर्मो में आज छठवा धर्म हे उत्तम संयम

  उत्तम संयम धर्म: पर्युषण पर्व के दस धर्मो में आज छठवा धर्म हे उत्तम संयम क्रोद्ध मान माया लोभ इन चारो कषायो से निजात पाकर सत्य को प्रकट कीया…
Continue Reading
धर्म

पर्युषण पर्व : आज उत्तम सत्य धर्म का दिन है

🔴 *उत्तम सत्यधर्म* 🔵 --------------------------------------- धर्म के सत्य लक्षण मे सत्य के दो अर्थ है - सत्य धर्म व सत्य वचन। सत्य धर्म तो आत्मा का स्वभाव होता है वह…
Continue Reading
धर्म

जैन धर्म में दस लक्षण पर्व में आज धर्म का चौथा लक्षण हे उत्तम शौच धर्म

उत्तम शौच धर्म🙏 *उत्तम शौच धर्म* 🙏 🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏 *उत्तम शौच लोभ परिहारी,* *संतोषी गुण रतन भंडारी।* *अर्थ:--*जो व्यक्ति उत्तम शौच धर्म को धारण करता है उसकी आत्मा लोभ ओर लालच…
Continue Reading
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com