चिकित्सा अधिकारी की साठ गाठ से झोलाछाप डॉक्टर सक्रिय

जब छोलाछाप से ही डाक्टरी करानी है तो प्रशासन और शासन को इन डॉक्टरों को हर गाँव का ठेका दे देना चाहिए जो करोड़ो की बिल्डिंगे स्वास्थ बिभाग ने बनबाकर अस्पताल खोल रखे है उनमें ताले लगा देना चाहिए जब डॉक्टर अस्पताल में है ओर इलाज के लिए झोलाछाप सक्रिय है डॉक्टर जिसके पास शासन की कोई मान्यता नही है और बह लोगो की जिंदगी के साथ खुलेआम खिलवाड़ कर रहा है जिसपर प्रशासन ने कार्यवाही की ओर साठ गाठ कर बिना कार्यवाही किये दूसरे दिन ही फिर दुकानदारी शुरू कर दी गई इसका क्या मतलब माना जाए कहि न कही स्वास्थ बिभाग से इनकी साठ गाठ
तो है इसी कारण यह लोगो को बोतल इजेक्शन ओर दवाई भी यह डॉक्टर की दुकान पर मौजूद होता है ।